Wednesday, July 28, 2004

Online Hindi Literature

ऑनलाइन हिन्दी साहित्य

इंटरनेट एक ऐसा स्थान है, जहां किसी भी विषय से सम्बंधित विस्तृत जानकारी प्राप्त की जा सकती है। हांलाकि हिन्दी दुनिया की सबसे ज्यादा बोली जाने वाली तीसरी भाषा है, लेकिन फिर भी इस भाषा में इंटरनेट पर बहुत कम सूचनाएं उपलब्ध हैं। हिन्दी को इंटरनेट पर बढ़ावा देने के कई प्रयास किए जा रहे हैं। यदि आप मेरा अंग्रेज़ी ब्लॉग नियमित रूप से पढ़ते हैं, तो आपको पता होगा कि मैंने यह नया हिन्दी ब्लॉग बनाया है।

लेकिन ऐसा भी नहीं है कि हिन्दी में कुछ उपलब्ध ही न हो। हां,यह ज़रूर है कि उसे खोजना काफी कठिन है। वेबसर्फिंग के दौरान मुझे एक बहुत ही उपयोबी और रुचिकर वेब साइट मिली जहां पर अनेक पुस्तकें बहुतायात में डाउनलोड के लिए उपलब्ध हैं। यह वेबसाइट भारतसरकार के सूचना प्रौद्यौगिकी विभाग नें बनाई है। आप यहां पर अपने कुछ पसंदीदा लेखकों जैसे प्रेमचन्द, शिवानन्द एवं यशपाल जी को वहां पाएंगे।

ठीक है - ठीक है अब में लिखना बन्द करके आपको वेबसाइट का पता देता हूं कृपया नोट कीजिए -
सीडैक की डिजिटल लाइब्रेरी

कृपया ध्यान दें कि मुझे डाउनलोड की हुई फाइलों को माइक्रोसॉफट वर्ड 2000 में कुछ समस्याएं आ रही थीं और अन्त में मुझे वर्डपैड का सहारा लेना पड़ा।

18 comments:

  1. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  2. Anonymous12:01 AM

    बहुत अच्छे, लगे रहो सज्जनो..

    - पंकज

    ReplyDelete
  3. यह तो वास्तव में बहुत ही अच्छा ब्लॉग है। मुझे ये बहुत ही पसन्द आया। लेकिन ऐसा लगता है कि आपके लिए इसे बनाना बहुत कठिन रहा होगा

    ReplyDelete
  4. Anonymous12:04 AM

    Good work punit. It seems pratik is jealous of you !

    - Vijay

    ReplyDelete
  5. Anonymous12:06 AM

    चिठ्ठा जगत में आपका स्वागत है! हिंदी लिखना कतई मुश्किल नहीं है, बस लगे रहिये.

    - शैल

    ReplyDelete
  6. Anonymous12:07 AM

    आपका ब्लॉग-परिचय (वो जो दाईं तरफ़ है) बहुत अच्छा लगा। आशा है पातियों को सिलसिला रुकेगा नहीं।

    शुभ॥

    - विनय

    ReplyDelete
  7. I installed the Arial Unicode MS font and it started displaying in Word. However it is not as sharp as it was in Wordpad. Somehow Wordpad displays it much better.

    Fonts provided with Office 2000
    Many of the TrueType fonts provided with Office support a wide variety of languages that use different writing systems, such as Greek or Russian, rather than just the languages of Western Europe; a few fonts for Asian languages are provided as well. The font Arial Unicode MS provided with Office is a full Unicode font, containing all of the approximately 40,000 alphabetical characters, ideographic characters, and symbols defined in the Unicode 2.1 standard. Because of its considerable size and the typographic compromises required to make such a font, Arial Unicode MS should be used only when you can't use multiple fonts tuned for different writing systems. For example, if you have multilingual data in Microsoft Access from many different writing systems, you can use Arial Unicode MS as the font to display the data tables with, because these can't accept many different fonts. If you didn't install the Arial Unicode MS font when you installed Office 2000 or your Office program, just reinstall Office and choose Add or Remove Features. Click the plus sign (+) next to Office Tools, click the plus sign next to International Support, click the icon next to Universal Font, and then choose the installation option you want.

    ReplyDelete
  8. Anonymous12:21 PM

    plz tel me the indian temples website in hindi language. thank u

    ReplyDelete
  9. hindi divas ke din bahut badiya hindi ka sagar mila hai e-jaal par
    ...........kamaal h sahab
    hindi divas par shubhkamnaye
    hindi ko aur aur badaye
    avinash

    ReplyDelete
  10. Anonymous2:03 AM

    manyavar,
    shubhkamnayen apani bhasa manin ase sarthak prayas ke liye ummeed hai hindi bhi internet per apani maujudgi majbooti se darj karegi
    mahesh madhusudan

    ReplyDelete
  11. A good blog and Hindi blogs are enriching the net but typing hindi is not always easy mainly for the Cybercafe users...

    ReplyDelete
  12. Janab aapki e site khul nahi rahi hai....

    ReplyDelete
  13. Anonymous11:53 AM

    धन्यवाद! आपके ब्लोग पर दी गयी जानकारी के अनुसार मैंने arial unicode MT इन्स्टाल किया और उसी के आधार पर यह टिप्पणी कर रहा हूं । यदि हिन्दी साहित्य की रचनाओं की औडिओ बुक्स इन्टर्नेट पर उपलब्ध हैं तो जानकारी प्रदान करें ।

    ReplyDelete
  14. Anonymous11:39 PM

    Yaar, hindi main type kaise karte hain? koi madad mil sakti hai kya ?

    ReplyDelete
  15. gitanjaly sharma4:44 PM

    it is very good to see that there is someone who cares about hindi

    ReplyDelete
  16. बहुत अच्छा । बहुत सुंदर प्रयास है। जारी रखिये ।

    हिंदी को आप जैसे ब्लागरों की ही जरूरत है ।


    अगर आप हिंदी साहित्य की दुर्लभ पुस्तकें जैसे उपन्यास, कहानी-संग्रह, कविता-संग्रह, निबंध इत्यादि डाउनलोड करना चाहते है तो कृपया इस ब्लॉग पर पधारें । इसका पता है :

    http://Kitabghar.tk

    ReplyDelete
  17. Anonymous8:52 PM

    BAHUT ACHCHA

    ReplyDelete

Related Posts with Thumbnails