Monday, December 27, 2004

ये कैसा मंदिर....

मंदिर और दरगाहो पर घड़ी , घंटे या शराब चढ़ाना तो आपने सुना होगा । लेकिन सूरत में एक ऐसा मंदिर है जहां भगवान को सिगरेट चढ़ाने का रिवाज है। वो भी जलाकर।है न मजेदार खबर।लेकिन जनाब ये बिलकुल सच है।सूरत के कतार गांव में एक ऐसा मंदिर है, जहां श्रद्धालु मन्नत पूरी होने की खातिर मंदिर में सिगरेट चढ़ाते हैं।ये मंदिर भावा देव का है और यहां ये रिवाज अरसे पुराना है।दिलचस्प बात ये है कि मंदिर के पुजारी भी मानते हैं कि भामा देव अगरबत्ती की जगह सिगरेट चढ़ाने से जल्दी खुश होते हैं। इस मंदिर में सबसे ज्यादा भीड़ अमावस्या के दिन होती है।उस दिन श्रद्धालुओ की जमात में भारी भीड़ तांत्रिको की होती है। बहरहाल,अगली बार अगर आप सूरत जाएं तो इस अनोखे मंदिर में दर्शन करना न भूलें।

2 comments:

  1. पुजारियों को यह इत्तला किसने दी कि भगवान सिगरेट से जल्दी ख़ुश होते हैं? ज़रूर सपना आया होगा किसी को।

    ReplyDelete
  2. Anonymous8:35 PM

    Doosra mandir bhi hai aisa ....Madhya Pradesh ke Sagar me baghraj ke paas ek mandir hai Thakur baba ka jahan bidi chadhai jati ...

    ReplyDelete

Related Posts with Thumbnails